आंधी बारिश में एसी कैसे चलाये|Is Ac safe in rainy season

बरसात में एसी को किस तरह से चलाना चाहिए?


एसी आज हर घर की ज़रूरत बन गया है जैसे जैसे गर्मी से तापमान में बढ़ोतरी हुई है वैसे ही इसकी मांग हमारे घरों में महसूस होने लगी है|इसलिए एसी की ज़रूरत को कम भी किया जा सकता है|



जब ज़्यादा गर्मी होती है तो हम एसी का तापमान बहुत ज़्यादा कम कर देते है इससे पहला नुक्सान हमारी बॉडी को होता है औऱ दूसरों ये हमारे बिजली के बिल को भी बढ़ाता है|इसलिए एसी को आप एक आरामदायक तापमान पर सेट करें जो कि 25°C सही होता है|


एसी किसी भी स्थान या कमरे के तापमान को कण्ट्रोल करके एक जैसा बनाने का काम करता है|अधिकतर लोग गर्मी में एसी के तापमान को 20°C से कम पर रखना चाहते है औऱ फैन को पूरी स्पीड में चला देते है|

एसी को हर तापमान के हिसाब से चलाना चाहिए वही बरसात में एसी को कैसे चलाये कुछ अलग तरीके से चलाया जाता है|जिससे वे कमरे में ठंडक अच्छी दे औऱ कोई समस्या पैदा ना हो|
चलिए आपको बरसात में एसी कैसे चलाये बताते है ---


             Table of Content
            -----------------------------

1)- एसी के ब्लॉवर मोटर की स्पीड|

2)- एसी के अंदर से पानी टपकने लगता है|

3)- एसी को हुमिड मोड में चलाये|

4)- एसी इंडोर यूनिट के ब्लॉवर को साफ करना|

5)- एसी को कितने तापमान पर चलाये बरसात में|

6)- स्प्लिट एसी आउटडोर की सुरक्षा|

7)-)- बरसात में एसी को चलाने के फायदे|

8)- बरसात में वोल्टेज और पावर की समस्या|

9)- स्टेबलाइज़र की आवश्यकता व देखभाल|

10)- ज़्यादा बारिश में एसी बंद रखिये|

11)- सेहत को नुक्सान हो सकता है|

> स्प्लिट एसी की देखभाल

> बरसात में स्प्लिट एसी की इंस्टालेशन कैसे करें|

>आउटडोर यूनिट (स्प्लिट एसी) के आस पास सफाई रखे?

> बरसात में एसी से छोटे बच्चे ज़्यादा प्रभावित होते है

>FAQ

> CONCLUSION


स्प्लिट एसी कवर 1.5 टन -ख़रीदे 

1)-एसी के ब्लोवर मोटर की स्पीड?

हम जानते है एसी के बिना आज रहना मुश्किल ही नही नामुमकिन सा हो गया है इसका कही ना कही तापमान में हो रही निरंतर बढ़ोतरी है|इस वजह से इसका प्रचलन बढ़ता जा रहा है|


एसी में ठंडी हवा हमें एक ब्लोवर की सहायता से कमरे में मिलती है|कूलिंग कॉइल ठंडी होने से ब्लोवर इससे हवा खींचकर पूरे कमरे हो अच्छा ठंडा करता है|गर्मी में ब्लोवर की स्पीड हम तेज कर देते है|


लेकिन आप बरसात में ब्लोवर में ब्लॉवर को कम गति में चलाये जिससे बेहतर परिणाम आये|
                              

2)-एसी के अंदर से पानी टपकने लगता है (इंडोर यूनिट) में?


अक्सर हमने घरों के एसी में कमरे के अंदर पानी गिरने लगता है|ये मुख्य रूप से समस्या स्प्लिट एसी के अंदर से आती है|
जिसके कारण पानी की बूंदो से हमारा सामान नीचा रखा खराब हो जाता है|


अक्सर बहुत बार बरसात में में पानी इंडोर से कमरे में गिरने लगता है जिससे हम परेशान हो जाते है क्यूंकि पानी पूरे में बहने लगता है|अगर आपके साथ भी कभी ये समस्या आये तो आप सबसे पहले एसी के इंडोर को ज़रूर चैक कर ले|



कही ये गन्दा तो नही है बहुत बार हम इसके फ़िल्टर को साफ करना भूल जाते है जिससे सारी डस्ट कूलिंग में चिपक जाती है|बाद में ब्लोवर से पानी कमरे में गिरना शुरू हो जाता है|
इसके कारण में कूलिंग कॉइल का अधिक गन्दा होना औऱ फ़िल्टर का होना हो सकता है|

3)-एसी को हुमिड मोड(नमी मोड)में चलाये|


एसी में ठंडक एक ब्लोवर की सहायता से कमरे के अंदर आती है गर्मियों में एसी के ब्लोवर को हम अधिक गति में चलाते है क्यूंकि जिससे कमरा जल्दी ठंडा हो जाए|दूसरी तरफ बरसात के मौसम में गर्मी कुछ कम होती है लेकिन वातावरण में काफ़ी नमी होती है जिससे हमें चिप चिपापन शरीर में लगता है|बात करें तो एसी का काम नमी को निकालना होता है|


काफ़ी एसी में एक हुमिड मोड होता है इसको आप रिमोट में देख सकते है ये बूंदो जैसा दिखता है रिमोट के बटन के ऊपर|
जब आप इसको दबाते है तो ब्लोवर की गति कम हो जाती है|जिससे ब्लोवर अच्छे से कूलिंग कॉइल की ठंडक को खींचता है|

औऱ पानी तपकने की समस्या नही आती है इसलिए आप इस मोड का प्रयोग ज़रूर करें जिससे आपको समस्या ना आये|

4)-एसी इंडोर यूनिट के ब्लोवर को साफ करना|


स्प्लिट एसी का इंडोर यूनिट के द्वारा हमको ठंडक मिलती है औऱ ये ब्लोवर की मदद से ऐसा होता है|बहुत बार इंडोर यूनिट से पानी नीचे तपकने लगता है|


अगर बात करे ऐसा क्यों पानी गिरता है तो इसका सीधा उत्तर है इंडोर यूनिट के ब्लोवर में डस्ट का जम जाना|ब्लोवर गन्दा होने के कारण सबसे पहले हवा का फ्लो कम हो जाता है|जिसके कारण कमरे में ठंडक कम होने लगती है|

इसकी क्लीनिंग काफ़ी आसान है आप घर पर ही कर सकते है कुछ आसान स्टेप को अपनाकर--


i)-सबसे पहले आप अपने एसी को ऑफ़ करे एम.सी.बी से जिससे आपको कोई समस्या ना हो|

ii)-इसके बाद आप एक छोटा पेंट ब्रश ले ले 10mm का एक जिससे आप ब्लोवर को आसानी साफ कर सके|

iii)-अब आप ब्रश को ब्लोवर के पास ले जाकर उसको होरिज़ोंटल दिशा की तरफ ब्रश को चलाये|आप एसी के नीचे एक अख़बार भी बिछा ले जिससे धूल मिट्टी पेपर पर गिरे|
ब्रश से ब्लोवर को साफ करने के बाद जब एसी को ऑन करें तो आप सामने से हट जाए क्यूंकि एसी चलने पर कुछ मिट्टी आपके चेहरे पर आ सकती है|


इसलिए ब्लोवर को आप समय समय साफ करना चाहिए|एसी करने से आपका एयर फ्लो भी बढ़ जाता है|

इन्हे भी पढ़े - एसी लगाने के टिप्स 

Check price-Ac कवर

5)-एसी को कितने तापमान पर चलाये बरसात में|


एसी को काम ठंडक देने का होता है इसको हमें एक निश्चित तापमान पर ही चलाना चाहिए जिससे हमें एक आरामदायक तापमान मिले औऱ साथ ही पावर की बचत भी हो सके|


बरसात में एसी को कैसे चलाये?


गर्मियों में एसी का तापमान गर्मी के कारण कम करना पड़ता है मज़बूरी के कारण|वैसे एक आदर्श तापमान 25°C होना चाहिए|वही बरसात में मौसम में ज़्यादा गर्मी नही होती है लेकिन नमी की मात्रा अधिक हो जाती है इसलिए आप एसी को 28°C तापमान पर ही चलाये जिससे पॉवर की बचत भी अधिक हो|

6)-स्प्लिट एसी के आउटडोर की सुरक्षा|


बरसात के मौसम में हवा बहुत अधिक  चलती है साथ ही पानी भी बरसता है|क्यूंकि हमारा आउटडोर यूनिट बाहर की तरफ होता है सारी हवा का प्रेशर इसके ऊपर आ जाता है|इसकी सुरक्षा के लिए आप हो सके तो ज़्यादा बारिश में आप अपने एसी को बंद कर दे जिससे आउटडोर यूनिट को नुक्सान नहीं होगा|


ज़्यादा हवा से आउटडोर का फैन ख़राब हो सकता है हो सके तो आप एसी को बंद कर दे|बरसात कम होने पर आप चला सकते है ये सुरक्षा के हिसाब से बेहतर रहता है|


7)-बरसात में एसी को चलाने के फायदे?

बरसात में नमी अधिक रहती है इस कारण से कई बीमारियों की उत्पत्ति हो जाती है एसी हमें ठंडक देने के साथ साथ हमें कई बीमारियों से भी बचाता है|बरसात में एसी चलाने से हमें काफ़ी फायदे होते है जो निम्न होते है ----

> एसी में कई फीचर ऐसी होती है जो बैक्टीरिया को मारती है जिससे हमें शरीर स्वस्थ रहता है|

> बरसात में एसी से हमारे शरीर में चिपचिपाहट नहीं लगती है यह भी एसी का मुख्य गुण माना जाता है|



8)- बरसात में वोल्टेज और पावर की समस्या


बरसात के मौसम में बिजली की समस्या काफ़ी बड़ी होती है क्यूंकि आधी पानी के कारण पेड गिर जाते है या बिजली के खम्बे|जिस वजह से लम्बे समय तक बिजली घरों में नहीं आती है|इसके अलावा वोल्टेज भी इस मौसम में कम ज़्यादा होती है जिस कारण घरेलू उपकरणों ज़्यादा ख़राब होते है अन्य मौसम की तुलना में|कंप्रेसर कम वोल्टेज व अधिक के कारण एसी से शोर आता है ये सामान्य घटना नहीं है|

9)- स्टेबलाइज़र की आवश्यकता व देखभाल?

एसी में स्टेबलाइज़र की आवश्यकता अत्यंत ज़रूरी है खासकर एसी में क्यूंकि ये इस मौसम में घटती और बढ़ती वोल्टेज को  कण्ट्रोल करता है|बरसात में बारिश अत्याधिक होने के कारण कई जगहों पर पेड और बिजली के खम्बे गिर जाते है बिजली घंटो चली जाती कुछ स्थानों पर तो वे भी नहीं आती है|

स्टेबलाइज़र फ्रिज - ख़रीदे


वोल्टेज कम ज़्यादा होती है तो स्टेबलाइज़र कण्ट्रोल करता है जिससे एसी बिना रूकावट के बेहतर तरीके से कार्य करें|इसके अलावा स्टेबलाइज़र की देखभाल ज़रूरी खासकर बरसात में चुंकि अधिकर एसी के स्टेबलाइज़र आउटडोर यूनिट के पास लगे होते है बरसात का पानी आना संभव है ये ख़राब भी हो सकते है|इस बात क़्या ख्याल रखना चाहिए|

स्टेबलाइज़र को आप बरसात में किसी पन्नी या कवर से ढक दीजिये पानी अंदर ना जाए पानी जाने से शॉर्ट सर्किट हो सकता है|साथ ही स्टेबलाइज़र को हमेशा ऐसे स्थान पर फिक्स करें जहा पानी न आता हो चाहे बरसात हो या नहीं|



10)- ज़्यादा बारिश व हवा में एसी बंद रखे?


बरसात में बारिश के साथ तेज हवाएं भी चलती है अगर इस अवस्था में एसी आप चलाकर रखते है इसका फैन टूट सकता है हाँ जब हवा कम हो जाए तो आप चला सकते है|

                                      

11)- सेहत को नुक्सान हो सकता है?


मनुष्य को एक आरामदायक तापमान चाहिए होता है जिससे शरीर को नुक्सान ना पहुचे अधिक सर्दी व अधिक गर्मी से इस पर प्रभाव पड़ता है|गर्मी में तापमान अधिक होता है परन्तु बरसात में तापमान कम होता है लगभग 32 डिग्री परन्तु नमी होने के कारण गर्मी ज़्यादा लगती है|एसी नमी को बाहरी वातावरण को देता है इस कारण से इस मौसम में एसी पानी ज़्यादा छोड़ता है|

बरसात में आप एसी चलाते है थोड़े ही समय में आपको ठण्ड लगने लगती है और आप एसी को बंद कर देते है|आप तापमान 27 डिग्री या इससे ऊपर रखे जिससे पावर भी बचे व सेहत को नुक्सान भी ना ही हो|


12)- स्प्लिट एसी की देखभाल?


स्प्लिट एसी दो यूनिट से सम्मलित होता हैं अक्सर हम एक चीज़ भूल जाते हैं स्प्लिट एसी इंस्टालेशन के समय बाद में बरसात के मौसम में पानी कमरे के अंदर आने लगता हैं ऐसा क्यों होता हैं जानते हैं|जब आउटडोर यूनिट से पाइप इंडोर यूनिट में जाता हैं एक छेद के द्वारा हम इसको बंद अच्छे से नहीं करते|बरसात में जब ज़्यादा बारिश होती हैं तो आउटडोर पाइप के सही ये पानी छेद से होता हुआ अंदर कमरे में आने लगता हैं|


इससे बचने के लिए आप वाइट सीमेंट पुट्टी ले आये इस छेद में भर दीजिये इससे बरसात के पानी के साथ कोई कीड़ा माकोड़ा कमरे मे भी नहीं आएगा|


> बरसात में स्प्लिट एसी की इंस्टालेशन कैसे करें?


बरसात में एसी लगाने पर आपको कुछ सावधानीया रखनी चाहिए क्यूंकि बरसात में लगातार बारिश होती है अगर अपने फ़ास्टनर बोल्ट दीवार में अच्छे से नहीं लगाया है तो स्प्लिट एसी आउटडोर के गिरने की सम्भावना अधिक रहती है|
एयरकंडीशनर कैसे लगाया जाता है अगर हो सके तो एसी को छत पर लगवाएं स्टैंड के साथ ये सुरक्षित है|दीवार या छज्जे या घर के दरवाजे के ऊपर आउटपुट ना लगवाएं जहा तक मुमकिन हो कई बार आउटडोर गिरते मैंने देखा है अपने एक्सपीरियस से आपको बता रहा है|

एसी स्टैंड - ख़रीदे 

आउटडोर काफ़ी वजन का होता है कंप्रेसर इसमें होता है कंडन्सर कॉइल और मोटर अगर ये दुर्भायवश किसी के ऊपर गिरता है तो आप समझ जाए उसका क्या होगा इसलिए बरसात में इंस्टालेशन एसी की छज्जे पर ना करवाकर छत पर लगवाएं ये सुरक्षित तरीका है|


आउटडोर यूनिट (स्प्लिट एसी) के आस पास साफ सफाई रखे?


बरसात के मौसम में बारिश होने साथ साथ तेज हवाएं भी चलती है इस कारण से अधिक मात्रा में कचरा इस यूनिट के आस पास होने के कारण आउटडोर की फिन्स ट्यूब में फस जाता है जिसके कारण हवा का प्रवाह रुकने लगता है ठंडक कम होने लगती है|

इसलिए हमेशा एसी के आस पास सफाई का विशेष ध्यान रखे जिससे आउटडोर यूनिट ख़राब आ हो इससे लीकेज, कंप्रेसर भी ख़राब होने की सम्भावना बढ़ने लगती है|

कूलर पेड- ख़रीदे

> क्या बारिश के मौसम में स्प्लिट एसी का इस्तेमाल किया जा सकता है?


हाँ कर सकते है कोई समस्या नहीं है परन्तु हवा अधिक चल रही है तो आप एसी आउटडोर यूनिट को बंद कर दे क्यूंकि इससे इसका कंडसर फैन टूट सकता है|

बरसात में एसी से छोटे बच्चे ज़्यादा प्रभावित होते है?


बरसात का मौसम बीमारियों की उपज होता है बच्चा हो या जवान सभी इस मौसम में बैक्टीरिया से लड़ता है डॉक्टरो की दुकाने भरी होती है|आप अपने छोटे बच्चो को एसी से दूर रखे बरसात में उनका शरीर तापमान को सेहन नहीं कर पाता है क्यूंकि कुछ देर चलाने पर ठण्ड लगने लगती है बंद करने पर गर्मी ये बदलाव तापमान का बच्चो को बीमार कर सकता खासी, जुखाम आदि हो सकता है तो आपको बचाना है|


एसी में ड्राई मोड कब इस्तेमाल करना चाहिए?

हर मौसम व तापमान का अलग अलग मोड होता है आप इसको रिमोट control से सेट कर सकते है वैसे ही ड्राई मोड बरसात या रैनी मौसम में इस्तेमाल किया जाता है|

FAQ-- अक्सर पूछे जाने वाले सवाल


प्रशन-1)- बरसात में एसी को किस मोड में चलाये?

उत्तर -- हुमिड मोड में ही चलाये 

प्रशन-2)- एसी का ब्लॉवर कितनी गति में चलता है?

उत्तर -- हुमिड मोड में ब्लॉवर की गति सबसे कम लो रहती है क्यूंकि एसी कम गति पर ज़्यादा नमी कमरे की निकाल सकता है ये आटोमेटिक एसी की पीसीबी में सेट होती है जब आप एसी को रिमोट कण्ट्रोल से हुमिड मोड में चलाते है तब लो स्पीड पर ही ब्लॉवर चलता है|अगर हाई स्पीड पर ब्लोवर को चलाते है और कॉइल गन्दी है तो पानी टपकने की समस्या आने लगती है|

प्रशन-3)- बरसात में एसी की देखभाल कैसे करें?

उत्तर - बरसात में एसी की अधिक देखभाल करनी चाहिए जैसे ज़्यादा बारिश में एसी बंद कर दे, उपयोग ना होने पर एसी बंद रखे उस पर कवर चढ़ा दे जिससे एसी में पानी ना जाए नमी से एसी सुरक्षित रहेगा, इस मौसम में एसी इंस्टालेशन छज्जे या दीवार पर ना करवाये एसी आउटडोर यूनिट गिर सकता है, इसलिए इन बातो का ख्याल रखे|

प्रशन-4)- क्या बारिश में एसी चला सकते है?
उत्तर - बारिश में आप एसी चला सकते है किन्तु बारिश के साथ अगर तेज हवा है तो आप एसी को तुरंत बंद कर दीजिये|इससे एसी का फैन ब्लेड टूट सकता है|इसके साथ आप एसी आउटडोर को किसी शेड से कवर करिये जिससे तेज हवा से चलने पर कोई भारी वस्तु उस को नुक्सान ना पंहुचाये|

प्रशन-5)- क्या बारिश में एसी चला सकते है?

उत्तर- हाँ चला सकते है हुमिड मोड में परन्तु अधिक बरसात के साथ हवा चल रही है तो आपको चाहिए एसी बंद कर दे हवा बंद होने पर चलाये क्यूंकि अधिक हवा होने पर एसी के ब्लेड टूटने की सम्भावना अधिक बढ़ जाती है|

निष्कर्ष-

इस लेख में आपको बताया की बरसात में एसी को कैसे चलाये हम जानते ये महीना गर्मी से ज़्यादा तकलीफ देता हैं शरीर में चिपचिपाहट के कारण हम एसी के बिना नहीं रह सकते हैं|इसलिए बरसात में एसी हुमिड मोड पर चलाये, सर्विस करवा ले, ज़्यादा बारिश होने पर एसी बंद कर दे ढक दे आदि कई  सारी ज़रूरी बाते बताई हैं अगर आपका कोई सवाल हो तो कमेंट करना पसंद आये तो शेयर करना अच्छा लगेगा मुझे|

                                                      




                                       

1 टिप्पणी

Unknown ने कहा…

Very good👍 information⛈️

Blogger द्वारा संचालित.