पढ़ाई करने के नियम|padai karne ke niyam?

 पढ़ाई करने के नियम?

वैसे हर चीज में सफलता पाने का एक नियम होता है जिससे उस क्षेत्र में कामयाबी पाई जाती है ठीक उसी प्रकार पढ़ाई करने के नियम भी कुछ होते है जिसे अगर आपको पता चल जाये तो आप अच्छे अंक के साथ टॉप पोजीशन में आ सकते है|

पढ़ाई करने के नियम


आज के समय में स्टूडेंट के सामने काफ़ी सारी चुनौतीया हो गई है पढ़ाई से सम्बंधित, मोबाइल से काफ़ी सारे लाभ भी है नुक्सान भी है खासकर पढ़ाई एग्जाम के दिनों में मोबाइल से दूर रहना भी एक अच्छे नियम में शामिल है|पढ़ाई करने के नियम ही सफलता जीवन में दिलवा सकते है|

अगर बात करें तो जो भी स्टूडेंट टॉप में आते है वे पढ़ाई के कुछ नियमो का पालन करते है अगर आप भी उन नियमो को जानने के इच्छुक है तो आज का लेख काफ़ी महत्वपूर्ण होने चला है हम ऑन नियमो को आसान भाषा में बतायेगे तो आपको लेख पूरा पढ़ना है बिना किसी देरी के शुरू करते है|

1- लक्ष्य या गोल पता होना चाहिए?


किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त करने में गोल काफ़ी महत्वपूर्ण होता है यदि आपको अपने लक्ष्य या गोल का पता होगा क्यों कर रहे है? मुझे इससे क्या लाभ होगा जो में कर रहा हूँ? पढ़ाई करने से मेरा कैरियर किस दिशा में जायेगा अगर ये पता नहीं होगा तो आपका लक्ष्य क्लियर नहीं है|


पढ़ाई करने के नियम


वैसे ही ये नियम पढ़ाई पर भी लागू होता है अगर बात करें तो पढ़ाई का सबसे प्रथम नियम महत्त्वपूर्ण होता है हम पढ़ाई क्यों कर रहे है आप आगे चलकर डॉक्टर बनेगे या इंजीनियर या अन्य कुछ बनेगे ये आपकी पढ़ाई पर निर्भर करता है|

डॉक्टर बनने वाला स्टूडेंट साइंस को चुनता है वही बैंक में कार्य करने वाला वे कॉमर्स को चुनता है आपको अपने लक्ष्य का क्लियर रूपये दिखना चाहिए तभी आपको मन पढ़ाई में लगेगा|

इसलिए आप एक नियम को तय करें भविष्य में क्या करना चाहते हो बिज़नेसमेन या फिर बैंक मैनेजर आदि|जो बिना लक्ष्य के चलते है उनका रास्ता ऐसा है जैसे अंधेरे में तीर चला रहे हो तो लक्ष्य साफ सुथरा होना चाहिए क्लियर तभी आप सफलता पा सकते है|



2- निरन्तर पढ़ाई करना?


किसी भी कार्य में सफलता पाने का मूलमन्त्र होता है आपका निरन्तर लगे रहना कैसे करना है आपको रोजाना एक समय निश्चित तय करना है 1 घंटा पढ़ेगे या 2 घंटा अपने अनुसार तय करें|

जितने भी सफल लोग हुए है वे एक ही कार्य को करते रहे लगातार यही नियम पढ़ाई पर भी लागू होता है तो निरंतर रोजाना पढ़ने का लक्ष्य तय करें|

3- समझकर पढ़े नम्बर के लिए नहीं?


आपको उद्देश्य केवल एग्जाम में अच्छे अंक लाना नहीं होना चाहिए साथ में समझकर पढ़ना भी होना चाहिए कुछ स्टूडेंट रट्टा मारते है एग्जाम में पास होने के लिए परन्तु ये ठीक नहीं है|

आपको समझकर पढ़ना चाहिए क्यूंकि अगर केवल पास होने के लिए करेंगे तो आगे की कक्षाओ में पिछली चीज़े समझ नहीं आएगी तो आपको इस बात का पूरा ख्याल रखना चाहिए|



4- आपको अच्छे मित्र बनाने चाहिए?


अच्छे मित्र बनाने का मतलब कदापि ये नहीं की वे आपके साथ खेले इसका अर्थ होता है वे आपके साथ पढ़ाई करें आपकी सहायता करें आप उनकी करें|

अच्छा मित्र अगर आपसे तेज है पढ़ाई में  तो आपकी वे कदम कदम पर मदद करेगा आपको कुछ समझ नहीं आएगा तो बताएगा इसके आलावा आपको भी कर्तव्य बनता है उसको कुछ पढ़ाई में समझ ना आये तो बताये|अगर आपके काफ़ी मित्र है तो आप पढ़ाई को ग्रुप डिस्कशन के ज़रिये करके उसको असरदार प्रभावशाली बना सकते है|आपको उन मित्र को नहीं बनाना है जो पढ़ाई में आपका मनोबल गिराए केवल खेल कूद की ही बाते करें वास्तव में वे मित्र नहीं हो सकता है|

5- पढ़ाई का सही स्थान चुने?


किसी भी काम को करने का स्थान होता है ठीक उसी प्रकार पढ़ाई को करना का भी होता है इसलिए पढ़ाई को शांत स्थान पर करना चाहिए इससे वे काफ़ी अच्छी होती है लम्बे समय तक आपको याद नहीं रहता है|

अगर आपके घर में स्थान कम है तो चिंतित या हो आपको ऐसे समय में स्टडी को करना है जब शोर कम होता हो वे समय प्रातः का ही होता है जो काफ़ी अच्छा माना जाता है पढ़ाई के लिए|


इन्हे भी पढ़े- किताब पढ़ने का तरीका

6- बातचीत या चर्चा कम ही करें?


कुछ बच्चो का स्वभाव होता है जब वे 12वी पास कर लेते है तो काफ़ी जगह घूम घूम कर मित्र रिश्तेदारों में बताते है आगे चलकर में डॉक्टर बनुगा या इंजीनियर इस तरह की बाते करते है परन्तु ये ठीक नहीं है आपको अपनी पढ़ाई और मेहनत पर केवल फोकस करना चाहिए सफल होगे तो सभी को पता ही चल जायेगा इसलिए आपको चर्चा से बचना है आवशयक बात ही करें व्यर्थ में समय बेकार ना ही करें|

7- गलतियों से सीखते हमेशा रहे?


किसी भी कामयाब पुरुष के जीवन को उठाकर देखोगे तो गलतियां अधिक मिलेंगे वही उसकी सफलता का मुख्य बिंदु होता है ठीक इसी प्रकार पढ़ाई के नियम के अंतर्गत आपको पढ़ाई में की गई गलतियों से सीखना है ताकि भविष्य में फिर से ना हो|

जीवन में सफल वही होता है जो अपनी गलतियों को मानता है उसमे सुधार करता है आगे फिर सीखता है फिर आगे बढ़ता ही चला जाता है स्टडी पढ़ाई में अपनी गलियों को पकडे ये सफलता का नियम भी कहता है|

8- ध्यान भटकने वाली चीज़ो को दूर रखे?


ध्यान अगर किसी काम में नहीं लगता है उसका मुख्य कारण कोई चीज है वस्तु है जो ध्यान भटका रही है|पढ़ाई करते समय मोबाइल को अपने से दूर ही रखे क्यूंकि मोबाइल बेवजह वाइब्रेशन करेगा, आवाज़ करेगा जिसके कारण पढ़ाई में अच्छे से ध्यान नहीं लगेगा इसके आलावा घड़ी कमरे में लगी घड़ी के अलार्म साउंड को भी बंद कर दे क्यूंकि इससे भी ध्यान उधर जाता है|स्टडी रूम में स्प्लिट एसी को भी लगावाये क्यूंकि ये विंडो एसी से काफ़ी शांत होता है जिससे पढ़ाई करने में ध्यान नहीं जाता है|



9- अपने पर आत्मविश्वास रखे?


जो भी जीवन में सफलता प्राप्त करता है उसके अंदर एक गुण अवश्य होता है वे है आत्मविश्वास का गुण यानि आप जिस कार्य को कर रहे है आपको भरोसा है में वे कर ही लुगा तो आप कर लेते है|

पढ़ाई में अगर आपने सोच लिए मन में विश्वास हो गया मै इस बार के एग्जाम मै टॉप आ आ जाऊगा तो आप उसके हिसाब से पढ़ाई को करते है|

10- मुख्य पॉइंट्स पर फोकस करें?


पढ़ाई करने के अंतिम नियम में आपको उन पॉइंट्स पर अधिक फोकस करना चाहिए इसमें आपको उन टॉपिक को पहले पढ़ना है जिसमे अच्छे मार्क्स आ सकते है कठिन टॉपिक को अभी कुछ समय के लिए छोड़ देना चाहिए|

इसके आलावा कोई अगर बोल रहा है ये टॉपिक इस बार एग्जाम मै आ सकता है तो तुरंत उसकी बात पर फोकस करके पूछना चाहिए और अगर सही लगे तो फ़ॉलो करना चाहिए|इससे पढ़ाई मै पहले नंबर पर आने से कोई भी नहीं रोल सकता है|

FAQ- अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 


प्रशन 2)- पढ़ाई की शुरुआत कैसे करें?

उत्तर- पढ़ाई की शुरुआत करने में आपको इन बातो को फ़ॉलो करना चाहिए आपको नोट्स बनाना चाहिए, टाइम टेबल बनाये, नींद पूरी 7 घंटे की लेनी चाहिए, प्रातः 5 बजे उठकर पढ़ाई करें इससे फोकस रहता है, कुछ स्टूडेंट सोचते है अगर टॉप आना है तो हमें 20 घंटे दिन में पढ़ाई करनी चाहिए ये धारणा गलत है टॉप स्टूडेंट के केवल 5 से 6 घंटे स्टडी करते है|

प्रश्न 2)- लम्बे समय तक याद कैसे रखे?

लम्बे समय तक याद करने के लिए आपको किसी विषय के टॉपिक को कहानी रूपये में पढ़ना चाहिए, नोट्स बनाकर हाईलाइटर से पढ़ने से चीज़े याद रहती है, पढ़ाई को लगातार नहीं करना चाहिए बीच बीच में कुछ का ब्रेक अवश्य लेना चाहिए, और बुक समाप्त पढ़ाई होने के बाद एक बार रिवीज़न भी करें संभव हो परीक्षा से पूर्व अवश्य कर ले ताकि याद रहे
इस लेख में आपको बताया कि पढ़ाई करने के नियम कौन कौन से होते है आपको कैसे करना है आपको निरन्तर पढ़ाई करनी है हर दिन, अच्छे मित्र बनाये साथ में पढ़ाई करें, सही स्थान को चुने जहा शोर ना हो इससे जल्दी याद होता है, लक्ष्य को बनाये, खुद पर आत्मविश्वास बनाये रखे इन ज़रूरी नियमो को आपको फॉलो करना है अगर आपको पढ़ाई में टॉप अच्छे मार्क्स लाने है तो|अगर आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट करें और पसंद आये तो ज़्यादा शेयर मित्र, रिश्तेदार को करें ताकि उनके पास भी ये महत्त्वपूर्ण जानकारी पहुंच जाये|

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.